close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

आज के दिनः जब दुलीप सिंह ने महज 5 घंटे में पूरा किया था तिहरा शतक

दुलीप सिंह भारत के महान क्रिकेटरों में से एक हैं। उन्होंने 12 टेस्ट मैचों में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व किया था, जिसमें 58.5 के औसत से 995 रन बनाए थे। अपने 8 वर्ष के करियर में उन्होंने 3 शतक व 5 अर्धशतक बनाए थे। दुलीप सिंह का काउंटी क्रिकेट में भी बोलबाला रहा था और उन्होंने सन् 1930 में ससेक्स की तरफ से खेलते हुए नार्थंट्स के खिलाफ तिहरा शतक वह भी महज 5 घंटे में जड़ दिया था।

पहली पारी में ससेक्स ने 127 ओवर में 521 रन बनाए थे, तीन दिनी टेस्ट मैच में ससेक्स की तरफ से अकेले 330 मिनट में 333 रन बनाए थे। इस पारी के दौरान उन्होंने 33 चौके व 1 छक्का लगाया था। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दुलीप सिंह की ये सबसे बड़ी पारी थी। जवाब में नार्थंट्स टीम महज 187 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। बर्ट वेंस्ले ने ससेक्स की तरफ से सबसे अधिक 4 विकेट झटके थे।

दूसरी पारी में भी नार्थंट्स की टीम 125 रन पर सिमट गई और ससेक्स ने एक पारी व 209 रन से मुकाबला जीत लिया। मौरिस टेटे ने दूसरी पारी में शानदार गेंदबाजी की और 20.2 ओवर में 45 रन देकर 7 बल्लेबाजों को आउट किया।

दुलीप सिंह के नाम एक दिन के खेल में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया, ऐसा करने वाले वह चौथे बल्लेबाज बन गए थे। उनसे अधिक सिर्फ तीन बल्लेबाजों ने एक दिन में सबसे अधिक रन बनाए हैं। लिस्ट में ब्रायन लारा शीर्ष पर हैं, जिन्होंने सन् 1994 में वार्विकशायर की तरफ से जब 501 रन की नाबाद पारी खेली थी, तब खेल के चौथे दिन उन्होंने 390 रन बनाए थे।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।