close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम पारियों में 10,000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज

टेस्ट क्रिकेट अपने आप में बहुत कठिन प्रारुप में जिसमें बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच जोरदार टक्कर होती है। दुनिया के सबसे पुराने प्रारुप में तकरीबन हर क्रिकेटर खेलना चाहता है। यही नहीं जो बल्लेबाज होता है उसकी दिली तमन्ना होती है कि वह इस प्रारुप में 10 हजार रन बनाए। इस खास लेख में हम आपको पांच ऐसे बल्लेबाजों के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने सबसे कम पारियों में 10 हजार टेस्ट रन बनाए हैंः

5. राहुल द्रविड़ – 206 पारियां

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ को टेस्ट क्रिकेट का जबरदस्त क्रिकेट माना जाता है। उन्होंने सन् 1996 में डेब्यू किया था और साल 2008 में अपने टेस्ट करियर में 10 हजार पूरे कर लिये थे। इस उपलब्धि को अपने नाम दर्ज करवाने के लिए उन्हें 206 पारियों का इंतजार करन पड़ा था।

4. रिकी पोंटिंग – 196 पारियां

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज रिकी पोंटिंग ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट इतिहास के महान बल्लेबाजों में से एक रहे हैं। उन्होंने साल 2008 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने टेस्ट करियर के 196वीं पारी में 10 हजार रन पूरे किये थे। पोंटिंग के दौर में ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने शीर्ष पर रही थी।

3. कुमार संगकारा- 195 पारियां

इस लिस्ट में श्रीलंका के कुमार संगकारा ने तेंदुलकर व लारा की तरह ही 195 पारियों में ही 10000 टेस्ट रन पूरे किये थे। साल 2005 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने अपने टेस्ट करियर के 10 हजार रन बना लिए थे।

2. ब्रायन लारा – 195 पारियां

वेस्टइंडीज के बाएं हाथ के बल्लेबाज ब्रायन लारा ने 195 पारियों में ही 10000 रन पूरे कर लिये थे। लारा इस रिकॉर्ड उपलब्धि तक पहुंचने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज थे। उन्होंने साल 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ ये कारनामा किया था। उन्होंने 232 पारियों में 52.88 के औसत से 11953 टेस्ट रन बनाए हैं।

1. सचिन तेंदुलकर – 195 पारियां

भारत व दुनिया के दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने सबसे कम पारियों में 10000 टेस्ट रन पूरे किये थे। सचिन ने पाकिस्तान के खिलाफ साल 2005 में अपने टेस्ट करियर की 195वीं पारी में ये उपलब्धि अपने दर्ज करवाई थी। तेंदुलकर ने अपने पूरे करियर में सबसे अधिक 200 टेस्ट मैच खेले थे।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।