close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

टेस्ट क्रिकेट की पांच सबसे बड़ी साझेदारियां

टेस्ट क्रिकेट में साझेदारियां ही मैच को बनाती हैं। जिस टीम की तरफ से ज्यादा साझेदारी होती है, वह टीम मैच पर अपना पकड़ उतना ही मजबूत बनाने में कामयाब होती है। अबतक के टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में कई साझेदारियां हो चुकी हैं, जो ऐतिहासिक हैं। जिसमें दो बार बल्लेबाजों ने 500 से ज्यादा रनों की साझेदारी की है। आज इस खास लेख में हम आपको टेस्ट क्रिकेट की पांच सबसे बड़ी साझेदारियों के बारे में बता रहे हैंः

कुमार संगकारा-महेला जयवर्द्धने, 624 रन

इस लिस्ट में पहले स्थान पर श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा और महेला जयवर्द्धने विराजमान हैं। इन दोनों ने साल 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कोलंबो टेस्ट मैच में 624 रन की साझेदारी निभाई थी। इस दौरान संगकारा ने 287 और जयवर्द्धने ने 374 रन की पारी खेली थी। दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 169 रन पर समेटने के बाद श्रीलंकाई टीम ने 5 विकेट पर 756 रन बनाकर घोषित कर दिया था।

सनथ जयसूर्या-रोशन महानामा, 576 रन

सन् 1997 में कोलंबो में हुए टेस्ट मैच में श्रीलंका ने भारत के खिलाफ इतिहास रच दिया था। जिसके रचयिता सनथ जयसूर्या और रोशन महानामा थे। इन दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 576 रन की साझेदारी निभाई थी। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट पर 537 रन बनाकर पारी घोषित कर दिया था। जवाब में श्रीलंका ने 6 विकेट खोकर टेस्ट क्रिकेट का सबसे बड़ा 952 रन का स्कोर बनाया। जिसमें जयसूर्या ने 340 व महानामा ने 225 रन की पारी खेली थी।

एंड्रू जोन्स-मार्टिन क्रो, 467 रन

वेलिंग्टन में हुए टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड के बल्लेबाज एंड्रू जोन्स और मार्टिन क्रो ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे विकेट के लिए 467 रन की साझेदारी की थी। सन् 1991 में हुए इस टेस्ट मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए कीवी टीम की पहली पारी 174 रन सिमट गई और श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में 323 रन बनाए। जिसके जवाब में कीवियों ने दूसरी पारी में यादगार वापसी करते हुए जोंस के 186 व क्रो के 299 रन की बदौलत 4 विकेट खोकर 671 रन बनाए।

बिल पोंसफोर्ड-डॉन ब्रेडमैन, 451 रन

इंग्लैंड के खिलाफ सन् 1934 में ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डॉन ब्रेडमैन व बिल पोंसफोर्ड ने दूसरे विकेट के लिए 451 रन की साझेदारी निभाई। ओवल में हुए इस टेस्ट मैच में कंगारू टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 701 रन बनाए। जिसमें पोंसफोर्ड ने 266 व ब्रेडमैन ने 244 रन की पारी खेली थी। जवाब में इंग्लैंड ने पहली पारी में 321 व दूसरी पारी में 145 रन बनाए, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 327 रन बनाए थे।

मुदस्सर नजर-जावेद मियांदाद, 451 रन

पाकिस्तान के मुदस्सर नजर और जावेद मियांदाद ने सन् 1983 में भारत के खिलाफ तीसरे विकेट के लिए 451 रन की साझेदारी निभाई थी। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में खेले गए इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए पाक टीम ने 3 विकेट खोकर 581 रन बनाए। जवाब भारतीय टीम 189 व 273 रन पर सिमट गई। इस ऐतिहासिक साझेदारी में नजर ने 231 व मियांदाद ने 280 रन की पारी खेली थी।

इन 5 ऑलराउंडर ने अपने दम पर टेस्ट सीरीज में डाली जान

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।