close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में इन 5 बल्लेबाजों ने बनाए सबसे अधिक रन

आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का पहला संस्करण साल 2019 से शुरू होकर 2021 जून में भारत और न्यूजीलैंड के बीच हुए फाइनल मुकाबले के साथ खत्म हुआ। इसमें अंत में विश्व को इस पहली वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के विजेता के तौर पर न्यूजीलैंड की टीम मिली। हालांकि पहले संस्करण में खेलने वाली सभी टीमों के कई खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया है।

जिसमें हमें बल्लेबाजों की तरफ से कई ऐसी पारियां देखने को मिली, जिन्होंने पूरे मैच के साथ सीरीज के परिणाम को भी बदलकर रख दिया। इसमें ऑस्ट्रेलिया के मार्नश लाबुशेन के अलावा भारत के अजिंक्य रहाणे और इंग्लैंड के बेन स्टोक्स का नाम सबसे पहले आता है। जिसके बाद हम आपको पहले संस्करण के दौरान सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-5 बल्लेबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं।

5 – अजिंक्य रहाणे (1,159 रन)

भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे इस पहले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के संस्करण में टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे हैं। रहाणे ने 18 मैचों की 30 पारियों में 42.92 के औसत से 1,159 रन बनाए। इसमें 3 शतकीय पारियां और 6 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं। रहाणे ने इस दौरान 115 रनों की सर्वाधिक पारी खेली।

4 – बेन स्टोक्स (1,334 रन)

इंग्लैंड टीम के ऑलराउंडर खिलाड़ी बेन स्टोक्स ने गेंद और बल्ले दोनों से पहले संस्करण में धमाल मचाया है। स्टोक्स की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लीड्स के मैदान में खेली गई 135 रनों की मैच विनिंग पारी की चर्चा हर तरफ देखने को मिली थी। स्टोक्स ने पहले संस्करण में 17 मैचों की 32 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 46 के औसत से 1,334 रन बनाए। इस दौरान स्टोक्स ने 4 शतकीय और 6 अर्धशतकीय पारियां भी खेली।

3 – स्टीव स्मिथ (1,341 रन)

1 साल के प्रतिबंध के बाद सीधे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पहले संस्करण में वापसी करने वाले ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने पहली सीरीज इंग्लैंड के खिलाफ खेली। इस सीरीज में स्मिथ के बल्ले से काफी रन देखने को मिले। इसके चलते उन्होंने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पहले संस्करण में 13 मैचों की 22 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 63.85 के औसत से 1,341 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 4 शतकीय और 7 अर्धशतकीय पारियां भी खेली, जिसमें एक पारी में 211 रन उनका सर्वाधिक स्कोर रहा।

2 – जो रूट (1,660 रन)

इंग्लैंड टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट भले ही अपने टीम को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के पहले संस्करण में फाइनल तक पहुंचाने में असफल रहे, लेकिन उनके बल्ले से काफी रन देखने को मिले। पहले संस्करण में रूट ने 20 मैचों की 37 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 47.42 के औसत से 1,660 रन बनाए, जिसमें 3 शतक और 8 अर्धशतकीय पारियां भी शामिल हैं।

1 – मार्नश लाबुशेन (1,675 रन)

टेस्ट क्रिकेट मौके को किस तरह से भुनाना चाहिए इसका सही उदाहरण मार्नश लाबुशेन ने दिया। पहले संस्करण में इस खिलाड़ी ने सिर्फ 13 मैचों की 23 पारियों मे बल्लेबाजी करते हुए 72.82 के औसत से 1,675 रन बना दिए, जिसकी उम्मीद क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों से की गई थी। लाबुशेन ने इस दौरान 5 शतकीय और 9 अर्धशतकीय पारियां भी खेली।

Leave a Response