close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

अनकही कहानी : तीन ऐसे तटस्थ टेस्ट मैच जिनके बारे में कम ही लोगों को है पता

सन् 1877 में आधिकारिक रूप से पहला टेस्ट मैच खेला गया था, उसके बाद क्रिकेट की अंतरराष्ट्रीय यात्रा में साल-दर-साल बदलाव होता रहा है। उदाहरण के लिए साल 2015 में पहला डे-नाइट पिंक बॉल टेस्ट मैच खेला गया। इसके अलावा टेस्ट क्रिकेट तटस्थ स्थानों पर भी खेले गए। अगर तटस्थ मैदानों पर खेले गए टेस्ट मैचों के इतिहास की बात करें तो सन् 1912 में पहली बार ये मैच खेला गया था। हालांकि तीसरे व चौथे तटस्थ टेस्ट मैचों के बीच 87 वर्ष का गैप रहा है। इस दरम्यान तीन ऐसे तटस्थ मैदानों पर खेले गए टेस्ट मैच हुए हैं, जिनके बारे में कम ही चर्चा हुई हैः

3. ऑस्ट्रेलिया बनाम दक्षिण अफ्रीका, मैनचेस्टर (1912)

वर्ष 1912 तक दुनिया के सिर्फ तीन ही देश टेस्ट क्रिकेट खेलते थे, जिसमें इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की टीमें शामिल थीं। उस दौर में तीनों देशों ने निर्णय लिया कि त्रिकोणीय सीरीज खेली जाए। मैनचेस्टर में पहला तटस्थ टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला गया।

पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 448 रन बनाए। जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में 265 और दूसरी पारी में 95 रन बनाए। इस तरह ऑस्ट्रेलियाई टीम ने मुकाबला एक पारी व 88 रन से जीत लिया। इस मैच को ऑस्ट्रेलिया के जिम्मी मैथ्यूज के यादगार प्रदर्शन के लिए याद रखा जाएगा। क्योंकि उन्होंने दोनों पारियों में मिलाकर दो हैट्रिक ली।

2. पाकिस्तान बनाम श्रीलंका, ढाका (1999)

अनकही कहानी : तीन ऐसे तटस्थ टेस्ट मैच जिनके बारे में कम ही लोगों को है पता

सन् 1998-99 में भारत, श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच एशियाई टेस्ट चैंपियनशिप खेला गया। टीम इंडिया पाकिस्तान से हार गई और श्रीलंका के साथ ड्रॉ खेला। इस तरह पाकिस्तान व श्रीलंका के बीच फाइनल खेला गया। फाइनल मुकाबला ढाका, बांग्लादेश में हुआ और मेजबान देश जल्द ही टेस्ट नेशन बना।

पहली पारी में श्रीलंका ने 231 रन बनाए, पाकिस्तान की ओर से अरसद खान ने 5 विकेट हॉल लिए। पाकिस्तान की ओर से एजाज अहमद ने 211 और इंजमाम उल हक ने नाबाद 200 रन की पारी खेली। जिसकी मदद से पाकिस्तान ने 594 रन बनाए। वहीं श्रीलंका की दूसरी पारी में वसीम अकरम व सकलैन मुश्ताक ने शानदार गेंदबाजी के बदौलत 188 रन पर सिमट गई।

1. ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान, कोलंबो (2002)

पाकिस्तान की टीम लंबे समय से होम टेस्ट यूएई में खेल रही है। हालांकि साल 2002 में पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होम टेस्ट श्रीलंका के कोलंबो में खेला था। तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के बाकी मुकाबले बाद में यूएई में खेले गए थे। दरअसल कराची बस बम ब्लास्ट के चलते पाकिस्तान से ये सीरीज शिफ्ट हुई थी।

रिकी पोंटिंग ने 141 रन की यादगार पारी खेली और ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 467 रन बनाए। शेन वार्न ने उसके बाद 94 रन देकर 7 विकेट झटककर पाक को बैकफुट पर ला दिया था। पाकिस्तान ने वापसी की, लेकिन कंगारुओं को 127 रन की बढ़त मिल गई। ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 316 रन बनाकर पाकिस्तान को लक्ष्य दिया, हालांकि पाक की टीम 41 रन लक्ष्य से पिछड़ गई।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।