आज के दिन: जब ईशांत ने झटके थे 7 विकेट, भारत ने लॉर्ड्स में दर्ज की थी जीत

ईशांत लॉर्ड्स

साल 2014 में भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर थी, जिसमें टीम को सबसे पहले मेजबान देश के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी थी। इस सीरीज का पहला मैच नॉटिंघम में खेला गया ता, जो ड्रॉ पर खत्म हुआ और सीरीज का दूसरा मैच लॉर्ड्स के मैदान में खेला जाना था। 

लॉर्ड्स के मैदान की पिच को लेकर बात की जाए तो वह स्विंग गेंदबाजी के मुफीद मानी जाती है और इस कारण भारतीय बल्लेबाजों के लिये यह टेस्ट मैच आसान नहीं होने वाला था। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेलने वाली इस टीम ने मैच में इतिहास रचने का इरादा किया था। 

इंग्लैंड ने जीता टॉस चुनी गेंदबाजी 

इंग्लैंड टीम के कप्तान एलिस्टर कुक ने इस मैच में पिच को मौसम को देखते हुए टॉस जीतने के बाद पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। भारतीय टीम के ओपनिंग बल्लेबाज टीम को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे जिसके चलते 123 के स्कोर तक आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। 

यहां से मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने उतरे अजिंक्य रहाणे ने एक छोर से पारी को संभालते हुए पहले भुवनेश्वर कुमार और उसके बाद मोहम्मद शमी के साथ महत्वपूर्ण साझेदारी करते हुए टीम का स्कोर पहली पारी में 295 रनों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। रहाणे ने 154 गेंदों में 103 रन बनाए थे। 

भुवनेश्वर ने दिखाया कमाल इंग्लैंड नहीं ले सकी अधिक बढ़त 

सभी को उम्मीद थी कि इंग्लैंड की टीम भारत के पहली पारी के स्कोर के मुकाबले अधिक बढ़त लेने में कामयाब होगी। लेकिन गैरी बैलेंस के 110 रन और निचलेक्रम में लियम प्लंकेट के 55 रनों की पारी के अलावा इंग्लैंड टीम का कोई भी दूसरा बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका। जिसके चलते टीम पहली पारी में सिर्फ 319 का स्कोर ही बना सकी। भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार 31 ओवरों में 82 रन देते हुए 6 विकेट हासिल किए थे। 

मुरली विजय और रविंद्र जडेजा ने खेली शानदार पारी 

अब एकबार फिर से भारतीय बल्लेबाजों के पास मैच में टीम को मजबूत करने की जिम्मेदारी थी। जिसके बाद ओपनिंग बल्लेबाज मुरली विजय ने 95 रनों की पारी खेलते हुए टीम के लिए बड़े स्कोर की नींव को रख दिया था। पुजारा के 43 वहीं जडेजा के 68 और भुवनेश्वर कुमार के 52 रनों की पारी के चलते भारतीय टीम दूसरी पारी में 342 का स्कोर बनाने में कामयाब हुई जिससे इंग्लैंड की टीम को चौथी पारी में 319 रनों का लक्ष्य दिया जा सका। 

इशांत शर्मा ने दिखाया बाउंसर गेंदों का दम 

क्रिकेट के खेल में ऐसा काफी ही देखने को मिला है कि कोई भारतीय गेंदबाज विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को अपनी बाउंसर गेंदों के दम पर पवेलियन भेजने में कामयाब रहा है। लेकिन इंग्लैंड टीम की दूसरी पारी में इशांत शर्मा की गेंदबाजी ने सभी को प्रभावित किया था। 319 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम के शुरुआती 4 विकेट सिर्फ 72 के स्कोर तक पवेलियन लौट चुके थे। 

यहां से मोईन अली और जो रूट के बीच 5वें विकेट के लिए हुई 101 रनों की साझेदारी के चलते ऐसा लगा कि इंग्लैंड टीम इस मैच में वापसी करने के साथ जीत हासिल कर सकती थे। लेकिन तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने मोइन अली को अपनी बाउंसर गेंद पर आउट करते हुए मैच में एकबार फिर से भारतीय टीम को वापस ला दिया था। 

इशांत ने इसके बाद जो रूट, मैट प्रायर, बेन स्टोक्स और स्टुअर्ट ब्रॉड सहित इंग्लैंड टीम के 7 खिलाड़ियों को अपना शिकार बनाते हुए उन्हें 223 के स्कोर पर समेट दिया था। जिससे भारतीय टीम ने इस मैच में 95 रनों की ऐतिहासिक जीत हासिल की थी। इशांत को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ दी मैच का खिताब भी दिया गया था। 

SCHEDULE

SOCIAL WALL


These women cricketers dominated the year gone by. From 🇮🇳, @M_Raj03, @JhulanG10 and @mandhana_smriti find places in these sides.

#CricketTwitter https://t.co/FT2779Lg2T
100MasterBlastr photo

🚨 CONTEST ALERT 🚨

Participate in our ‘Master and Apprentice’ contest and win cash vouchers worth Rs.500!

To submit your entries, download the 100MB app: https://t.co/4rO3ncjQxe https://t.co/Yc8hz9xlqr
100MasterBlastr photo

🏏 Tests
🏏 ODIs
🏏 T20Is

Here are the men who dominated international cricket in 2021 according to @ICC. Check out the teams here.👇🏻 https://t.co/jvN3jNS59D
100MasterBlastr photo

Australia’s victorious #Ashes campaign has propelled them to the top spot in the latest ICC Men’s Test team rankings! https://t.co/sj3ex4h71c 100MasterBlastr photo