close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

नंबर 3 पर विराट या धोनी, गंभीर और पठान की नज़र में कौन है बेहतर ?

भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शुमार हैं। वह विश्व क्रिकेट में नंबर 3 के लिए बेहतरीन बल्लेबाज भी कहे जाते हैं, जिन्होंने इस क्रम पर भारतीय टीम को कई मौकों पर जीत दिलाई है। हालांकि एक लाइव चैट सेशन में भारत के गौतम गंभीर और  इरफान पठान ने नंबर 3 के लिए विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी में बेहतर कौन है, पर चर्चा की। दोनों खिलाड़ियों ने अपने तर्कों के साथ नंबर 3 के लिए उपयुक्त खिलाड़ी का चुनाव किया।

दोनों खिलाड़ियों में कौन बेहतर है के सवाल का जवाब देते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि कोहली और धोनी दोनों ही अलग-अलग स्थान पर  बल्लेबाज़ी करते हैं। इसलिए उनकी तुलना करना ठीक नहीं होगा। स्टार स्पोर्ट्स के ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ शो पर होस्ट जतिन सप्रू ने फिर से अपना सवाल बदला और इन दोनों से पूछा अगर धोनी बल्लेबाजी ऑर्डर में और ऊपर खेल रहे होते तो क्या होता?

इस पर गंभीर ने कहा, ‘मुझे लगता है क्रिकेट जगत ने एक बड़ी चीज मिस कर दी। अगर धोनी नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने आते और टीम के कप्तान नहीं होते तो क्रिकेट जगत को एकदम अलग खिलाड़ी देखने को मिलता। शायद वो तब और बहुत रन बना चुके होते, वो कई रेकॉर्ड्स तोड़ चुके होते। वो दुनिया के सबसे रोमांचित क्रिकेटर होते अगर वो नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते और कप्तान नहीं होते।’

इस पर इरफान ने कहा, ‘लेकिन एमएस के पास नंबर-3 पर बल्लेबाजी करने के सारे मौके थे, उन्होंने ऐसा किया नहीं। देखिए, अगर आप नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते हुए विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के बीच तुलना करते हैं, तो मुझे अभी भी लगता है कि विराट के पास बेहतर तकनीक है। ऐसा कुछ नहीं है जो मैं महेंद्र सिंह धोनी से छीन रहा हूं, बिना किसी शक के वो क्रिकेट के बड़े खिलाड़ियों में शुमार हैं। हर किसी की अपनी राय होती है, मैं अभी भी विराट को ही चुनूंगा।’

गंभीर ने इस पर जवाब में कहा, ‘मैं शायद महेंद्र सिंह धोनी को चुनता, फ्लैट विकेट पर नंबर तीन पर धोनी गेंदबाजों पर बुरी तरह प्रहार करते। श्रीलंका, बांग्लादेश, वेस्टइंडीज को मौजूदा समय में देखिए जिस तरह के इंटरनेशनल क्रिकेट हो रहा है, एमएस धोनी ने अभी तक कई रिकॉर्ड्स तोड़ दिए होते।’

किसी भी टीम के लिए नंबर 3 पर बल्लेबाजी करने वाला बल्लेबाज बड़ा अहम होता है। जल्द विकेट गिरने पर नंबर 3 के बल्लेबाज के कंधों पर अपनी टीम को स्थिती के अनुरुप ढालने और फिर एक बड़े स्कोर की ओर ले जाने की चुनौती होती है। विराट कोहली ने इस क्रम पर भारत के लिए रनों का अंबार लगाया है। हालांकि धोनी को जब इस क्रम पर पहली बार बल्लेबाज़ी करने का मौका मिला था तो उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 148 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। लेकिन सौरव गांगुली की कप्तानी के बाद राहुल द्रविड़ जब कप्तान बने तो उनका क्रम बदल दिया गया, जिससे विश्व क्रिकेट को बेस्ट फिनिशर मिला।

Leave a Response