close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

विश्वकप फाइनलः नियम पर सचिन ने उठाए थे सवाल, अब बदलने की तैयारी में आईसीसी

विश्वकप 2019 का फाइनल विवादित बन गया, जिसकी वजह बना था सुपर ओवर में इंग्लैंड को ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर विजयी घोषित किया जाना। जिसके बाद दुनिया भर के क्रिकेटरों और फैंस ने आईसीसी पर जमकर निशाना साधा था, जिसमें भारत के दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी शामिल थे।

ऐसे में आईसीसी अब इस विवादित नियम को दुरुस्त करना चाहती है, यही नहीं आईसीसी इस नियम की जगह गैरविवादित सटीक नियम लाना चाहती है। इसके लिए क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था ने पूर्व भारतीय कप्तान अनिल कुंबले की अगुवाई में एक क्रिकेट समिति भी बना दी है। जो अपनी बैठक में बाउंड्री नियम सहित विश्वकप फाइनल से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करेगी।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के क्रिकेट महाप्रबंधक ज्योफ एलर्डाइस ने यह जानकारी साझा की है। यानी क्रिकेट में सुपर ओवर भले ही रहे, लेकिन हार-जीत का फैसला बाउंड्री के आधार पर नहीं होगा।

एलर्डाइस ने कहा

आईसीसी प्रतियोगिताओं में 2009 से मैच टाई होने की स्थिति में विजेता का फैसला करने के लिए सुपर ओवर का इस्तेमाल बॉल-आउट की जगह किया गया। इस नियम के तहत अगर सुपर ओवर भी टाई रहता है, तो मैच का नतीजा उसी मैच में हुई किसी चीज के आधार पर निकालना था। जिसमें तय किया गया कि उस मैच में लगी बाउंड्री के आधार पर हार-जीत का फैसला किया जाये।

लेकिन विश्वकप 2019 के फाइनल में पहली बार मुकाबला टाई हुआ और सुपर ओवर का इस्तेमाल हुआ, जो टाई रहा। जिसके बाद इंग्लैंड को लॉर्ड्स में खेले गए फाइनल मैच में ज्यादा बाउंड्री के आधार पर विजेता घोषित कर दिया गया। इंग्लैंड को 22 चौके और दो छक्के जड़ने के कारण विजेता घोषित किया गया था, जबकि न्यूजीलैंड की टीम ने 17 बाउंड्री ही लगाई थी।

एलर्डाइस ने आगे कहा

दुनियाभर की लगभग सभी टी-20 लीग में सुपर ओवर टाई होने पर बाउंड्री के नियम का इस्तेमाल होता है। हम भी उसी सुपर ओवर नियमों का इस्तेमाल करना चाहते थे, जो सभी पेशेवर क्रिकेट में उपयोग में लाया जाता है। यही कारण है कि इसे इस तरह लागू किया गया था। क्या इससे कुछ अलग हो सकता था इस पर हमारी क्रिकेट समिति विचार करेगी।

Leave a Response

Manoj Tiwari

The author Manoj Tiwari

100 MB Sports में कंटेट राइटर का पद संभालते हुए काम का लुत्फ उठा रहे हैं। कम बोलने में विश्वास और काम को ज्यादा तवज्जो देने में भरोसा रखते हैं। मुंबई में साल भर से ज्यादा समय बिता चुके हैं, शहर को लेकर खुद की अपनी राय रखते हैं। स्पोर्ट्स हमेशा से पसंदीदा बीट रही है, अपने करियर की पारी शुक्रवार मैगजीन से शुरू की, जो स्पोर्ट्सकीड़ा और स्पोर्ट्सवाला से होते हुए अब 100 MB Sports तक आ गयी है। बीच में हमने राजनीति से लेकर मनोरंजन और यात्रा बीट पर भी काम किया, लेकिन स्पोर्ट्स की भूख खत्म नहीं हुई। मायानगरी में जब काम नहीं कर रहे होते हैं, तो शहर घूम रहे होते हैं। अभी के लिए बस इतना ही। हमें और जानना है, तो लिखा हुआ पढ़ लीजिये।