close
DOWNLOAD 100MB MOBILE APP

जब युसूफ पठान के बल्ले से निकली थी विश्व की सबसे बड़ी जीत

भारत के फर्स्ट क्लास क्रिकेट में हर साल दलीप ट्रॉफी के मुकाबले खेले जाते हैं। पहले रणजी ट्रॉफी के बाद इसका आयोजन होता था और भारत के कई बड़े क्रिकेटर राज्य से निकल कर अपने ज़ोन के लिए खेलते नजर आते थे। कहा जाता था कि रणजी के बाद अगर कोई खिलाड़ी दलीप ट्रॉफी में बेहतर प्रदर्शन करे तो भारतीय टीम में उसके खेलने की संभावना बढ़ जाती थी। ऐसा ही एक मुकाबला आज से 10 साल पहले 2010 में खेला गया था, जहां टेस्ट टीम में जगह बनाने की कोशिश में लगे थे युसूफ पठान।

2010 में हैदराबाद के मैदान पर साउथ ज़ोन और वेस्ट ज़ोन के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया था। पठान टीम में वापसी की कोशिश कर रहे थे। उनकी नज़रें वनडे और टी 20 टीम में एक बार फिर से जगह बनाने की थी। पठान ने फाइनल में मिले मौके को दोनों हाथों से भूनाया और दोनों पारी में शतक ठोक अपनी वापसी का एलान कर दिया। पहली पारी में उन्होंने जहां 76 गेंद में 108 रन बनाए तो वहीं दूसरी पारी में 190 गेंद में 210 रनों की नाबाद पारी खेली।

पठान की पारी और विश्व रिकॉर्ड जीत

दूसरी पारी में वेस्ट ज़ोन को जीतने के लिए 536 रनों के विशाल लक्ष्य को भेदना था। सलामी बल्लेबाजों ने टीम को 117 रनों की बेहतरीन शुरुआत दी लेकिन इसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे और वेस्ट ज़ोन के चार विकेट 263 पर पवेलियन लौट गए थे। पहली पारी में शतक लगाने वाले पठान मैदान पर बल्लेबाजी के लिए उतरे और यहां से खेल पूरी तरह बदल गया।

दाएं हाथ के लंबे कद के बल्लेबाज युसूफ ने पहली पारी को आगे बढाते हुए एक बार फिर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी शुरू कर दी। पठान ने अपनी पारी में 19 चौके और 10 छक्के लगा कर टीम को ऐतिहासिक जीत दिला दी। पहली पारी में उन्होंने 12 चौके और 5 छक्के लगाए थे।

पठान की आक्रामक पारी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि जब पांचवें और आखिरी दिन टीम को 157 रनों की जरूरत थी उस वक्त पठान के बल्ले से सिर्फ 84 रन आए थे लेकिन इसके बाद पठान ने 124 रन अकेले बनाकर टीम को ऐतिहासिक जीत दिला दी।

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ये जीत सबसे बड़ी जीत थी। इससे पहले श्रीलंकाई टीम सेंट्रल प्रोविनेंस ने 2003-04 में 513 रनों के लक्ष्य को सफलता पूर्वक हासिल किया था।

दिनेश कार्तिक ने भी खेली बेहतरीन पारी

युसूफ पठान की तूफानी पारी के बीच दिनेश कार्तिक की पारी दब कर रह गई। साउथ ज़ोन की कमान संभाल रहे कार्तिक ने दोनों ही पारी में बेहतरीन शतकीय पारी खेली थी। पहली पारी में जहां उन्होंने 226 गेंद में 183 रन बनाए थे वहीं दूसरी पारी में 162 गेंद में 150 रन बनाए थे।

स्कोर कार्ड –

साउथ ज़ोन पहली पारी – 400 ऑल आउट
वेस्ट ज़ोन पहली पारी – 251 ऑल आउट
साउथ ज़ोन दूसरी पारी – 386 पर 9 पारी घोषित
वेस्ट ज़ोन दूसरी पारी – 541 पर 7 (तीन विकेट से दर्द की ऐतिहासिक जीत)

Leave a Response

Shashank

The author Shashank

2011 विश्व कप के साथ शशांक ने अपनी खेल पत्रकारिता की शुरआत की। क्रिकेट के मैदान से लेकर हर छोटी बड़ी खबरों पर इनकी नज़र रहती है। खेल की बारीकियों से लेकर रिकॉर्ड बुक तक, हर उस पहलू पर नजर होती है जिसे आप पढ़ना और जानना चाहते हैं। क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी इनकी गहरी रूची है। कई बड़े मीडिया हाउस को अपनी सेवा दे चुके हैं।